कल है पेपर, आज प्रशासन ने जेसीबी से दफ़न कर दीं किताबें, बहुत रो रहीं है बच्ची

0
144

चंडीगढ़: प्रशासन उस समय सोता रहता है जब लोग अवैध कब्जे करते हैं। गरीब जब अपनी जमा पूंजी खर्च कर आशियाना बना लेते हैं तो प्रशासन पीला पंजा लेकर पहुँच जाता है उस समय गरीब खून के आंसू रोते हैं। सीएम सिटी करनाल में प्रशासन ने फिर से पीला पंजा चलाया। अतिक्रमण व अवैध निर्माण के नाम पर सब्जी मंडी बजीदा रोड पर सेक्टर 3 में यह कार्रवाई कर दी। इस कार्रवाई में गरीबों की दुकान और ढाबों को गिरा दिया। प्रशासन की मनमानी व क्रूरता ने एक बच्ची को घर से किताबों को निकालने का मौका भी नहीं दिया। जिससे उसका रो-रोकर बुरा हाल हो गया। बच्ची को रोता देख हर किसी की आँखें नम हो गईं।

एक जानकारी के मुताबिक़ बजीदा रोड पर सडक किनारे कई ढाबे और दुकानें हैं, जिनमें रहने वाले लोग घर का गुजर बसर कर रहे थे। इन बस्तियों को प्रशासन ने अवैध बताकर इसे गिरा दिया, जिससे इन गरीबों के सिर से छत के साथ साथ उनकी रोजी-रोटी का साधन भी उनसे छिन गया।स ढाबे में रहने वाले परिवार ने बताया कि वे काफी लम्बे समय से यहां रह रहे और गुजर बसर कर रहे हैं। उनकी एक बेटी भी जो छठीं कक्षा में पढ़ती है। आज प्रशासन की कार्रवाई के बाद उनके सिर छत और जीविका दोनों ही छीन ली गई।

वहीं मासूम सी बच्ची कविता का कल पेपर हैं। जिनकी वह तैयारी कर रही थी, लेकिन प्रशासन ने उसे किताबें घर से बाहर निकालने तक का मौका नहीं दिया और उसकी किताबें भी मलबे में दफन हो गई। अब बच्ची अपने हाल पर आंसू बहा रही हैं। प्रशासन की इस कार्रवाई आमजन भी काफी नाराज हैं और सरकार और प्रसाशन को कोस रहे हैं।

Source:-http://haryanaabtak.com/haryana/karnal-haryana-sps-news/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here