96 हजार प्रॉपर्टी धारकों में से 45 हजार टैक्स डिफॉल्टर

0
243
DJL01ªFe¹FìAFS-6 ÀF¸FeS ßFe½FFÀ°F½F, ªFZOMXeAFZ ³F¦FS d³F¦F¸F ¦F¼÷Y¦FiF¸F

संदीप रतन, गुरुग्राम करोड़ों रुपये के बकाया प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों पर शिकंजा कस

संदीप रतन, गुरुग्राम

करोड़ों रुपये के बकाया प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों पर शिकंजा कसने के लिए नगर निगम ने तैयारी कर ली है। खास बात यह है कि नगर निगम के जोन-2 के कुल 96 हजार प्रॉपर्टी धारकों में से 45 हजार टैक्स डिफाल्टर हैं। कइयों ने तो पिछले कई सालों से प्रॉपर्टी टैक्स नहीं भरा है। नगर निगम अब ऐसे डिफाल्टरों के खिलाफ सख्ती बरतेगा और हर सप्ताह 100 टैक्स डिफाल्टरों को इस माह की शुरुआत से ही नोटिस भेजे जाएंगे। समय पर टैक्स नहीं भरने वाले डिफॉल्टरों की संपत्ति को सील करने के साथ नीलाम भी किया जा सकता है। शुरुआत में 50 हजार या इससे ऊपर की बकाया टैक्स राशि वाले डिफॉल्टरों को नोटिस भेजे जाएंगे। इसके लिए नगर निगम की टैक्स ब्रांच ने तैयारी कर ली है और प्रॉपर्टी धारकों के बकाया टैक्स की डिटेल खंगाली जा रही है। पूरे नगर निगम में करीब साढ़े तीन लाख से ज्यादा प्रॉपर्टी आइडी है और पिछले कई सालों से टैक्स नहीं भर रहे डिफॉल्टरों पर नगर निगम की नजर है। बता दें कि नगर निगम को हर साल करीब 200 से 250 करोड़ रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स मिलता है। लेकिन पिछले कई सालों से करोड़ों रुपये का टैक्स बकाया है।

300 करोड़ के नजदीक पहुंचा वसूली का आंकड़ा

पिछले दिनों कई टैक्स डिफाल्टर प्रॉपर्टी की नीलामी के चलते नगर निगम ने काफी पुराना टैक्स वसूला है। नगर निगम अधिकारियों के मुताबिक 1 अप्रैल 2017 से 1 फरवरी 2018 तक नगर निगम के खातों में 291 करोड़ 89 लाख से ज्यादा का बजट जमा हो चुका है। निगम अधिकारियों का दावा है कि इसी माह में 300 करोड़ से रुपये ज्यादा का टैक्स नगर निगम में जमा हो जाएगा।

पीजी हाउस और बिल्डरों पर सख्ती की जरूरत

शहर में नगर निगम के आंकड़ों के मुताबिक 1250 से ज्यादा अवैध पीजी हाउस संचालित हैं। अकेले डीएलएफ और सुशांत लोक एरिया में ही 300 से ज्यादा पीजी हाउस चल रहे हैं। इन पीजी हाउस को नियमानुसार कामर्शियल प्रॉपर्टी टैक्स की दर से टैक्स का भुगतान करना होता है। ज्यादातर पॉश इलाकों के घरों में पीजी हाउस चल रहे हैं और कामर्शियल टैक्स से बचकर नगर निगम को राजस्व का चूना लगा रहे हैं। अगर पीजी हाउस का सर्वे करवाया जाए तो प्रॉपर्टी टैक्स चोरी पर लगाम कसी जा सकती है।

100 टैक्स डिफॉल्टरों को हर सप्ताह नोटिस भेजे जाएंगे। टैक्स डिफाल्टरों को पहले भी नोटिस भेजे जा चुके हैं, इसके बावजूद टैक्स का भुगतान नहीं करने वाले डिफाल्टरों की संपत्ति को सील या नीलाम भी किया जा सकता है।

-समीर श्रीवास्तव, जेडटीओ नगर निगम गुरुग्राम।

By Jagran

Source:- https://www.jagran.com/haryana/gurgaon-property-tax-defaulter-17449725.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here