टाइगर जिंदा है देख मॉल से निकला था ये, उठाकर ले गई पुलिस और फिर हुआ ये

0
650

24 दिसंबर को पुलिस ने गिरफ्तार किया था बॉबी कटारिया को। पत्नी और दोस्तों के साथ फिल्म देखने गया हुआ था बॉबी।

25 दिसंबर की रात अपनी पत्नी रेणु दहिया (बायें) और एनजीओ की पदाधिकारी मंजू सिंह (दायें) के साथ था बॉबी कटारिया। (फाइल)

गुड़गांव। यू-ट्यूब और फेसबुक पर वीडियो डालकर चर्चाओं में आए बॉबी कटारिया इन दिनों न्यायिक हिरासत में हैं। बॉबी पर अलग-अलग धाराओं में 6 मामले दर्ज हैं। बॉबी के परिवार वाले, उसके सोशल मीडिया फॉलोअर और कुछ सामाजिक संगठन पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रहे हैं। बॉबी के छोटे भाई समय कटारिया ने dainikbhaskar.com से बात करते हुए अभी तक के पूरे घटनाक्रम को बताया।

– बॉबी के भाई समय ने बताया कि उसका भाई बॉबी कटारिया 24 दिसंबर की रात को अपनी पत्नी रेणु कटारिया, उसकी एनजीओ की सदस्य मंजू सिंह के साथ गुड़गांव के एमबीएक्स मॉल गया हुआ था।
– उन्होंने वहां सलमान खान की फिल्म टाइगर अभी जिंदा है देखी। फिल्म देखने से पहले बॉबी ने सोशल मीडिया पर पुलिस के खिलाफ एक वीडियो डाला था। पुलिस को कहीं से यह पता चल गया कि बॉबी इस समय एमबीएक्स मॉल में है। बॉबी लगभग 11 बजे जैसे ही फिल्म देखकर बाहर निकला तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया। समय कटारिया का कहना है कि उसी दौरान उसकी भाभी रेणु व मंजू सिंह ने एक वीडियो भी बनाया और बताया कि पुलिस बॉबी को पकड़कर ले गई है। परिवार वालों को भी रात में पता चल गया कि बॉबी के साथ ऐसा हुआ है लेकिन उन्हें पता था कि पुलिस रात में बॉबी से कोई बात नहीं करने देगी। इस वजह से उन्होंने रातभर इंतजार किया। अगले दिन बॉबी की सुध ली।

परिवार वालों का आरोप पुलिस ने बुरी तरह से पीटा है बॉबी को
– बॉबी की मां और भाई का कहना है कि पुलिस ने अगले दिन बॉबी को कोर्ट में पेश किया और रिमांड पर ले लिया। परिवार वालों का आरोप है कि रिमांड के दौरान बॉबी की बुरी तरह से पिटाई की गई। वह अपने पैरों पर भी खड़ा नहीं हो सकता।

ये बोले सामाजिक संगठन

– इस मामले को प्रमुखता से उठाने वाली सामाजिक कार्यकर्ता संगीता दहिया का कहना है कि मैं मानती हूं कि बॉबी द्वारा गाली देकर बात करना कतई गलत है लेकिन पुलिस का रवैया भी ठीक नहीं है। पुलिस ने रिमांड के दौरान थर्ड डिग्री की तरह बॉबी के साथ मारपीट की। इसके बाद उसके पक्ष में कैंडल मार्च निकाल रहे लोगों की भीड़ को अलग-थलग करने के लिए लाठीचार्ज किया। उनका कहना है कि एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में पुलिस का बर्ताव ऐसा कतई नहीं होना चाहिए।

अब हाईकोर्ट में जमानत के लिए अपील करेगा परिवार

– बॉबी की जमानत के लिए उसका परिवार अब हाईकोर्ट में अपील करेगा। बॉबी के भाई समय कटारिया का कहना है कि इस संबंध में उनकी बात पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के वकील रविंद्र सिंह ढुल से चल रही है। उन्हें अब अदालत द्वारा ही न्याय मिलने का भरोसा है।

पुलिस का कहना कर रहे हैं अपनी कार्रवाई

– वहीं इस मामले पर गुड़गांव और फरीदाबाद पुलिस का कहना है कि बॉबी को उस पर दर्ज अलग-अलग मामलों के तहत ही गिरफ्तार किया गया था। उसे रिमांड पर पूछताछ के बाद न्यायालय में पेश किया गया, जहां से कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

Source:-https://www.bhaskar.com/harayana/panipat/news/c-85-LCL-boby-katariya-brother-tell-the-whole-story-what-happen-pa0345-NOR.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here