सप्ताह का साक्षात्कार: पुराने गुरुग्राम तक मेट्रो लाने का होगा प्रयास

0
30
DJL07ªFe¹FìAFS-4 CX¸FZVF A¦Fi½FF»F, d½F²FF¹FIY
पूरी दुनिया में गुरुग्राम की पहचान साइबर सिटी के रूप में है। यह न केवल प्रदेश, बल्कि देश के

पूरी दुनिया में गुरुग्राम की पहचान साइबर सिटी के रूप में है। यह न केवल प्रदेश, बल्कि देश के विकास भी आईना लगभग बन चुका है। इस वजह से इस शहर के ऊपर पूरी दुनिया की नजर है। ऐसी स्थिति में गुरुग्राम में बेहतर से बेहतर होने की अपेक्षा लोगों को हमेशा रहती है। वर्ष 2017 के दौरान कई घोषणाएं की गईं। इनमें से कुछ पर काम शुरू हुआ, कुछ कागजों से बाहर नहीं निकलीं। गत वर्ष भी प्रतिदिन लोग यही समाचार सुनने को बेताब रहे कि नए गुरुग्राम से पुराने गुरुग्राम इलाके में मेट्रो के विस्तार का कार्य कब शुरू होगा। नए साल में भी लोगों को प्रतिदिन विस्तार का कार्य शुरू होने का इंतजार रहेगा। नए साल के दौरान गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र के लोगों को क्या-क्या सौगात मिलेगी, इस बारे में दैनिक जागरण के वरिष्ठ संवाददाता आदित्य राज ने क्षेत्र के भाजपा विधायक उमेश अग्रवाल से विस्तृत बातचीत की। प्रस्तुत है मुख्य अंश :

– नए साल के दौरान अपने क्षेत्र की जनता को क्या कुछ देने जा रहे हैं?

– जबसे प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है, हर क्षेत्र में समान रूप से विकास कार्य कराए जा रहे हैं। गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र में भी कई कार्य हुए हैं। कई कार्य चल रहे हैं। नए साल के दौरान पुराने गुरुग्राम तक मेट्रो के विस्तार का कार्य जमीनी स्तर पर शुरू हो, इसके लिए मैं हर स्तर पर प्रयास करूंगा। डीपीआर बनाने का काम शुरू चुका है। डीपीआर बनते ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसमें जितनी तेजी लाई जा सकती है, लाने का प्रयास कराया जाएगा। मुझे मालूम है कि क्षेत्र की जनता चाहती है कि जल्द से जल्द मेट्रो का विस्तार हो। सेक्टर 43 में कॉलेज बनाने की घोषणा हो चुकी है। इस साल उसका निर्माण शुरू हो जाएगा। इसके अलावा जहां भी विकास कार्य को लेकर घोषणा की गई है, सभी के ऊपर इस साल काम शुरू हो जाएगा। क्षेत्र में पहचान के अनुरूप विकास कार्य कराना मेरा लक्ष्य है।

– नए गुरुग्राम इलाके में ट्रैफिक जाम की समस्या नासूर बनती जा रही है। इसके समाधान की क्या योजना है?

– इस समस्या का सबसे बेहतर समाधान मेट्रो का विस्तार ही है। इससे पहले सिटी बस सेवा को बेहतर बनाने पर जोर दिया जा रहा है। सिटी बसों की पहली खेप जल्द ही आने वाली है। बसों के चलने से लोग निजी वाहनों का उपयोग कम करेंगे। इससे जहां ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिलेगी, प्रदूषण का स्तर भी कम होगा। मेरा प्रयास होगा कि शहर का कोई भी इलाका सिटी बस सेवा से अछूता न रहे। डीजल आधारित ऑटो सीएनजी में कनवर्ट हो सकें, इसके लिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा। ऑटो चालकों को अहसास कराया जाएगा कि प्रदूषण फैलने से वह और उनके बच्चे भी परेशान होते हैं।

गत वर्ष के दौरान पौधरोपण के लिए काफी लोगों को अभियान से जोड़ने का प्रयास किया था। इस साल पर्यावरण संरक्षण की दिशा में और अधिक प्रयास किया जाएगा। एक-एक व्यक्ति को अभियान से जोड़ने का प्रयास होगा। केवल पौधे लगाने से ही पर्यावरण का संरक्षण नहीं होगा बल्कि इसके लिए साफ-सफाई पर भी ध्यान देना जरूरी है। इसके लिए नुक्कड़ सभाएं की जाएंगी, पर्चे वितरित किए जाएंगे। पर्यावरण संरक्षण किसी एक की नहीं बल्कि सबकीजिम्मेदारी है। इसके लिए हर व्यक्ति को काम करना होगा।

– गत वर्ष मुख्यमंत्री के साथ आपका टकराव बना रहा। क्या नए साल में संबंध मधुर रहेंगे?

– मुख्यमंत्री से कभी टकराव नहीं रहा। मैंने अपनी बातें उनके सामने रखी थीं। उसे कुछ लोगों ने टकराव का नाम दे दिया। मुख्यमंत्री प्रदेश के मुखिया हैं। उनके सामने विधायक अपनी बातें नहीं रखेंगे तो कहां रखेंगे? जो भी मांगें उनके सामने रखीं, कभी भी उन्होंने मना नहीं किया। यहां तक कि मांगों से अधिक दिया। दरअसल कुछ लोग हर बात पर राजनीतिक रोटियां सेंकना पसंद करते हैं। मैं विकास कराने में विश्वास करता हूं। इसके लिए जिस स्तर पर आवाज उठानी पड़े, उठाने से नहीं हिचकता। आखिर क्षेत्र में जितने भी कार्य हुए हैं या चल रहे हैं या होने वाले हैं, अधिकतर की घोषणा तो मुख्यमंत्री ने ही की है। पहली बार ऐसा हुआ है कि सभी क्षेत्रों में समान विकास कार्य हो रहे हैं। दूसरी पार्टियों के भी जहां विधायक हैं, वहां पर भी विकास कार्य सामान रूप से हो रहे हैं।

– आप प्रदेश में सबसे अधिक मतों से चुनाव जीते विधायक हैं। क्या लोगों की अपेक्षाएं पूरी हुईं?

– देखिए, सौ फीसद लोगों की अपेक्षाओं पर खड़ा उतरना आसान नहीं है। हां, दिन-रात लोगों की सेवा में लगा हूं। मेरा दरवाजा 24 घंटे लोगों के लिए खुला है। किसी को निराश करके नहीं भेजता। जो काम नहीं होने वाला है, उसके लिए मुंह पर ही कह देता हूं। इससे वे बार-बार मेरे कार्यालय का चक्कर नहीं लगाते हैं। अधिकतर लोगों की समस्या बिजली, पानी, सीवर, अतिक्रमण की रहती है। मौके पर ही समाधान कराने का हरसंभव प्रयास करता हूं। मैं मानता हूं कि आप जितने अधिक वोटों से जीतते हैं, उतनी ही अधिक आपके ऊपर जिम्मेदारी आती है। नए साल के दौरान लोगों की उम्मीदों के अनुरूप और बेहतर तरीके से कार्य करने का प्रयास करुंगा।

– नए साल के लिए गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र के लोगों को क्या संदेश देना चाहेंगे?

– मैं लोगों से यही कहना चाहूंगा कि गुरुग्राम ग्लोबल सिटी बन चुका है। पूरी दुनिया के लोग यहां रहते हैं। यह शहर न केवल हरियाणा का बल्कि देश के विकास का आइना बन चुका है। ऐसी स्थिति में यहां के लोगों की जिम्मेदारी काफी अधिक है। शहर को साफ-सुथरा रखें। कहीं भी गंदगी न फैलाएं। न केवल अधिक से अधिक पौधे लगाएं बल्कि पेड़ों की रक्षा भी करें, कोई भी ऐसा कार्य न करें जिससे कि प्रदूषण फैले।

By Jagran 
Source:-http://2inspirelife.net/dainik-jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here