फरीदाबाद की तर्ज पर होगा साइबर सिटी की मेयर टीम का चयन

0
103
सत्येंद्र ¨सह, गुरुग्राम ‘इंद्र’ के साथ नाश्ता, ‘कृष्ण’ संग हुआ लंच। मेयर टीम के चेहरे तय कर

सत्येंद्र ¨सह, गुरुग्राम

‘इंद्र’ के साथ नाश्ता, ‘कृष्ण’ संग हुआ लंच। मेयर टीम के चेहरे तय करने के लिए भारतीय जनता पार्टी की ओर से बुधवार को पूरे दिन कवायद चलती रही। भाजपा के 26 पार्षदों को सुबह केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत ¨सह के दिल्ली स्थित आवास पर नाश्ते पर आमंत्रित किया गया। इस दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर व प्रदेश के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ भी मौजूद रहे। पार्टी ने इन दोनों नेताओं को गुटबाजी से परे हटकर सर्वसम्मति से मेयर टीम बनवाने की जिम्मेदारी दे रखी है। बाद में पार्षदों की अलग से कृष्णपाल गुर्जर के दिल्ली आवास पर लंच पर मुलाकात हुई।

इससे पहले मंगलवार की रात कृष्णपाल व धनखड़ ने डिनर पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री राव नरबीर ¨सह के साथ गुफ्तगू की। नरबीर से मन की बात जानने के बाद दोनों नेताओं ने रात में ही रणनीति बना भाजपा के सभी पार्षदों को दिल्ली नाश्ते और लंच के लिए आमंत्रित किया था। सभी को मैसेज किया गया था। तय कार्यक्रम के तहत सुबह दस बजे सभी पार्षद राव इंद्रजीत के आवास पर पहुंच गए। वहां पर कृष्णपाल गुर्जर, राव इंद्रजीत ¨सह व ओमप्रकाश धनखड़ मौजूद थे। चाय की चुस्की व पकौड़ों के स्वाद के बीच दोनों नेताओं ने पार्षदों की मन की बात सुनी। फिर पार्टी का संदेश सुना दिया।

यह था संदेश

पार्टी जो जिम्मेदारी देती है निभाना पड़ती है। किसी के आगे कॉमा तो लग सकता पर फुल स्टाफ नहीं, अभी नहीं तो फिर कभी बेहतर स्थान मिल सकता है। लिहाजा मन का मैल निकाल पार्टी द्वारा तय किए नामों पर तीन नवंबर को होने वाले शपथ ग्रहण से पहले अपनी सहमति दे दें। उदाहरण यह भी दिया गया कि कभी पीएम मोदी को भी संगठन ने मनचाहा पद नहीं दिया होगा, लेकिन उन्होंने जो मिला उसके साथ निष्ठा से काम किया और आज देश के प्रधानमंत्री हैं। हालांकि नाश्ते की मेज पर कुछ पार्षदों ने राव इंद्रजीत के घर पर भी बैठ उनके राजनीतिक विरोधी राव नरबीर ¨सह के प्रति अपनी भावना प्रकट करने से नहीं चूके।

कृष्णपाल ने पार्षदों का मन जाना

राव इंद्रजीत के यहां चाय पार्टी के बाद पार्षदों को लंच कृष्णपाल के आवास पर कराया गया। यहां पर सभी पार्षदों से कृष्णपाल गुर्जर व ओमप्रकाश धनखड़ ने वन-टू-वन बात भी की। पार्षदों के जाने के बाद दोनों नेताओं ने गुफ्तगू कर यही फैसला लिया कि गुरुग्राम नगर निगम मेयर टीम का चयन फरीदाबाद की तर्ज पर होगा। दोनों नेता अपनी राय से मुख्यमंत्री सहित पार्टी के उच्च पदाधिकारियों को अवगत भी करा चुके हैं।

क्या है फार्मूला

सूत्रों की मानें तो गुर्जर फार्मूला पर काम हुआ तो राव इंद्रजीत खेमे को मेयर, राव नरबीर ¨सह खेमे को डिप्टी मेयर और मुख्यमंत्री समर्थक एक पार्षद की पत्नी को सीनियर डिप्टी मेयर बनाया जाएगा। इसके अलावा वित्त संविदा समिति के दो पार्षदों में एक विधायक उमेश अग्रवाल व एक राव नरबीर ¨सह समर्थक को दिए जाने का फार्मूला तैयार किया है। वित्त संविदा समिति में मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर तथा डिप्टी मेयर सहित पांच सदस्य होते हैं। हालांकि सभी नामों पर पार्टी संगठन की ओर से ही अंतिम मुहर लगेगी। पार्टी यह नहीं चाहती की नाम तय करने के लिए वो¨टग करानी पड़े।

ऐसे हुआ था फरीदाबाद में

जनवरी में हुए फरीदाबाद नगर निगम चुनाव के बाद मेयर टीम जब केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, उद्योग मंत्री विपुल गोयल के बीच मतभेद हुए तो पार्टी संगठन नेताओं ने पांच पदों का बंटवारा इस तरह किया था कि कोई भी खेमा नाराज न हो। फरीदाबाद में मेयर पद बड़खल की विधायक सीमा त्रिखा समर्थक पार्षद सुमनबाला और सीनियर डिप्टी मेयर पद कृष्णपाल गुर्जर के बेटे देवेंद्र चौधरी को दिया गया। उद्योग मंत्री विपुल गोयल को डिप्टी मेयर पद दिया गया। जिस पर गोयल ने मनमोहन गर्ग का नाम दिया। इसके अलावा 50 लाख रुपये से अधिक की राशि के विकास कार्यों को मंजूरी देने वाली वित्त संविदा कमेटी के दो सदस्यों को विधायक मूलचंद शर्मा व मुख्यमंत्री मनोहर लाल समर्थक पार्षद धनेश अदलखा सहित कपिल डागर को दिया गया था। हालांकि धनेश अदलखा को बाद में मुख्यमंत्री ने राज्य सहकारी ग्रामीण विकास बैंक का चेयरमैन बना दिया था।

By Jagran 
source:-http://www.jagran.com/haryana/gurgaon-civic-16957024.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here