मधु आजाद को मिल सकती है मेयर की चेयर

0
75

दिनेश भारद्वाज/ट्रिन्यू
चंडीगढ़, 30 अक्तूबर
गुरुग्राम में नगर निगम चुनाव में बगावत की वजह से भाजपा को मिली करारी हार के बाद अब मेयर की कुर्सी को लेकर संग्राम छिड़ा हुआ है। भाजपा के 14 पार्षदों और केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत और राव नरबीर सिंह के 6-6 समर्थक पार्षदों के भाजपा के साथ आने से पार्टी बहुमत के आंकड़े पर पहुंच गई है। इसके बावजूद मेयर की कुर्सी को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा। अब सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मामले का हल निकालने की जिम्मेदारी केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर और प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को सौंपी है।
बताते हैं कि सोमवार रात दोनों मंत्रियों के साथ हुई बैठक के बाद मेयर के नाम पर लगभग सहमति बन गई है। इसमें भाजपा के चुनाव चिह्न पर जीती इंद्रजीत खेमे की मधु आजाद की ताजपोशी लगभग तय है। वहीं, राव नरबीर के खेमे को सीनियर डिप्टी मेयर का पद मिलना भी तय हो गया है। साथ ही जातीय समीकरण बैठाने के लिए डिप्टी मेयर के पद पर किसी बनिया या पंजाबी बिरादरी के पार्षद की ताजपोशी संभव है। हालांकि एक गणित यह भी है कि गुरुग्राम से विधायक उमेश अग्रवाल बनिया बिरादरी से हैं, तो ऐसे में किसी पंजाबी को ही डिप्टी मेयर का पद मिलेगा। इसमें कपिल दुआ का नाम सामने आ रहा है। अगर बनिया बिरादरी को यह पद जाता है, तो सुभाष सिंगला का नाम सबसे ऊपर है।
गौरतलब है कि 35 सीटों वाले गुरुग्राम नगर निगम में भाजपा ने सिंबल पर चुनाव लड़ा था, लेकिन आपसी कलह और गुटबाजी के कारण यहां भाजपा केवल 14 सीटें ही जीत पाई थी। इसके बाद केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत के गुट के 6 बागी पार्षद उनके साथ आ खड़े हुए।
इसी तरह राव नरबीर गुट से भी 6 पार्षद उनके समर्थन में है। इस जादुई आंकड़े से भाजपा को 26 पार्षदों का समर्थन मिल रहा है। नगर निगम में मेयर का पद अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित है। राव इंद्रजीत जहां मधु आजाद की ताजपोशी चाहते हैं, वहीं राव नरबीर भाजपा की बागी शीतल बागड़ी को मेयर की कुर्सी दिलाने की जुगत में है।

source:-http://dainiktribuneonline.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here